Hasya Kavita

Hasya Kavita in Hindi, Hasyakavita, Funny Shayari, Funny Hindi Poems, हिन्दी हास्य कविता, हास्य कविता

275 Posts

201 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 4683 postid : 146

शादी का लड्डू – जनहित में जारी

Posted On: 22 Jul, 2011 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend


पिछले महीने हमारे एक प्रिय मित्र की शादी थी. मियां शादी के बाद खुश तो बहुत थे लेकिन पता नहीं एक महीने में क्या हुआ उनके साथ जो एक दर्द भरी हास्य कविता लेकर आज सुबह चाय की महफिल में आ गए.


इस दर्द भरी हास्य कविता को तो पढ़कर हमें अपनी शादी की योजनाओं पर यमुना का पानी डालने का मन कर रहा है. आप भी पढ़िए इस कविता को और अगर आप शादी-शुदा हैं तो इसमें अपने आप को देखकर सोचिए और अगर हमारी तरफ कुंवारे हैं तो अपने भविष्य को देखकर चिंतित हो जाइए.


2371218554_fc57df403dशादी का लड्डू


अभी शादी का पहला ही साल था,
ख़ुशी के मारे मेरा बुरा हाल था,
खुशियाँ कुछ यूं उमड़ रही थीं,
की संभाले नहीं संभल रही थीं..

सुबह सुबह मैडम का चाय ले कर आना
थोडा शरमाते हुये हमें नींद से जगाना,
वो प्यार भरा हाथ हमारे बालों में फिरना,
मुस्कुराते हुये कहना की…

डार्लिंग चाय तो पी लो,
जल्दी से रेडी हो जाओ,
आपको ऑफिस भी है जाना…

घर वाली भगवान का रुप ले कर आयी थी,
दिल और दिमाग पर पूरी तरह छाई थी,
सांस भी लेते थे तो नाम उसी का होता था,
इक पल भी दूर जीना दुश्वार होता था…


5 साल बाद……..


सुबह सुबह मैडम का चाय ले कर आना,
टेबल पर रख कर जोर से चिल्लाना,
आज ऑफिस जाओ तो मुन्ना को
स्कूल छोड़ते हुए जाना…

सुनो एक बार फिर वोही आवाज आयी,
क्या बात है अभी तक छोड़ी नही चारपाई,
अगर मुन्ना लेट हो गया तो देख लेना,
मुन्ना की टीचर्स को फिर खुद ही संभाल लेना…

ना जाने घरवाली कैसा रुप ले कर आयी थी,
दिल और दिमाग पर काली घटा छाई थी,
सांस भी लेते हैं तो उन्ही का ख़याल होता है,
अब हर समय जेहन में एक ही सवाल होता है…

क्या कभी वो दिन लौट के आएंगे,
हम एक बार फिर कुंवारे हो जाएंगे..



[जनहित में जारी]




Tags:           

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (13 votes, average: 4.23 out of 5)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Kanika Sharma के द्वारा
October 13, 2013

100% free matrimony site like facebook and google. No hidden fee . http://www.mymateplus.com

onlymevikas के द्वारा
July 23, 2011

you are good writer so pls write about corruption so that something could done our country


topic of the week



latest from jagran