Best Web Blogs    English News

facebook connectrss-feed

Hasya Kavita

Hasya Kavita in Hindi, Hasyakavita, Funny Shayari, Funny Hindi Poems, हिन्दी हास्य कविता, हास्य कविता

275 Posts

191 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

आज की राजनीति: हास्य कविता

पोस्टेड ओन: 15 Sep, 2011 में

अभी कल ही सुनने में आया कि 2014 चुनावो में हो सकता है प्रधानमंत्री पद के लिए मोदी और राहुल गांधी में टक्कर हो. अब इस टक्कर में कौन जीतता है यह तो देखने वाली बात होगी पर इस लड़ाई से आम जनता बहुत प्रभावित होगी. अगर दुबारा कांग्रेस आई तो फिर पांच साल मौत और महंगाई के बोझ तले जिंदा रहना पड़ेगा और अगर कहीं भाजपा जीती तो कहीं आडवाणी प्रधानमंत्री ना बन बैठे.


खैर कुछ भी हो नेताओं को तो कुछ होने नहीं वाला. जो कुछ होगा वह आम जनता का होगा. तो चलिए छोड़िए इस टेंशन को और पढ़िएं एक बेहतरीन हास्य कविता “आज के नेता”


हास्य कविता “आज के नेता”


आडवाणी जी मंदिर  बनवाओगे  कब तक
हिन्दुओं को  यूँ ही  बहलाओगे  कब  तक

देश  की  जनता    इतनी  नादां   नहीं  है
तुम  अपनी   रोटी  पकाओगे    कब  तक


funny-indian-political-cartoon-showing-congress-with-urban-and-rural-areasमनमोहन जी कुछ अपनी मन की भी कर लो
सोनिया जी की गाड़ी  चलाओगे कब  तक

पवार जी आपकी  हर पोल है  खुल चुकी
जनता कों  चीनी   खिलाओगे  कब तक


चिदंबरम  जी जनता जवाब चाहती है
आतंकवाद को जड़ से मिटाओगे कब तक

परनब बाबू अर्थवयवस्था का गुणगान करते हो
मंहगाई  पर   लगाम   लगाओगे    कब  तक


माया  जी  आप मूर्तियों की बहुत प्रेमी हो
हाथियों की  मूर्तियाँ बनवाओगे कब तक

ममता जी और लालू जी  रेल के अखाड़े में
लाभ-हानि का किस्सा सुनाओगे कब तक


नितीश जी आप बात करते हो सुशासन की
बिहार से अफसरसाही  मिटाओगे कब तक

पासवान जी आप गीत गाते रह गए अल्पसंख्यक की
अल्पमत  की  मार  खुद  खाओगे  कब  तक


इक सवाल “अशोक” देश की जनता से पूछता है
तुम   लुटेरों   को    नेता   बनाओगे  कब  तक




Tags:                                                               

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (50 votes, average: 4.46 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • Share this pageFacebook0Google+0Twitter0LinkedIn0
  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

gunjan के द्वारा
October 28, 2013

kuch bate chupaya karo to kuch se hame rulaya karo bas mujko ek hi aasha hai ki mujko hamesha khush rakha karo dil ki kuch bate aise hoti hai jo batayi nhee jati had ho jaye to chupaii nhi jati bas yarron yahi kehna hai sharbaton ke rang mai drugs milai nhee jati




  • ज्यादा चर्चित
  • ज्यादा पठित
  • अधि मूल्यित