Hasya Kavita

Hasya Kavita in Hindi, Hasyakavita, Funny Shayari, Funny Hindi Poems, हिन्दी हास्य कविता, हास्य कविता

275 Posts

202 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 4683 postid : 470

पत्नी के परेशान करने के तरीके: हास्य कविता(Hasyakavita)

Posted On: 6 Sep, 2012 मस्ती मालगाड़ी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

wife and husbandशादी नाम से सभी लोग भयभीत रहते है और जिनकी शादी हो जाती है वो लोग शादी ना करने की सलाह देते है. प्रेम विवाह  करने वाले लोग यह कहते है कि शादी का मजा हमने पहले ही ले लिया अब हमें शादी से कोई उम्मीद नहीं है. पर प्रेम विवाह ना करने वाले लोग यह कहते है कि शायद उन्होंने शादी का मजा पहले ही ले लिया होता क्योंकि शादी के बाद तो सिर्फ परेशानियां ही नजर आती है. अब आप नीचे लिखी हास्य कविता को पढ़कर ही समझ जाएगे कि शादी के बाद कितना मजा जिन्दगी में रहता है.


‘आज एक ग़ूढ बात बतलता हूँ

प्रेम और प्रबंध विवाह का अंतर समझाता हूँ|

प्रेम विवाह मे आप एक दूसरे को, काफ़ी अरसे से जानते हैं,
मेरी होने वाली संगिनी देवी का काली रूप है, यह भली भाँति मानते हैं|

साल दो साल का भरपूर प्रेम, फिर आप आज्ञाकारी बन जाते हैं,
अपनी होनेवाली के समस्त तांडवों के आगे आत्मसमर्पण कर जाते हैं|

फिर विवाह मात्र एक रस्म है, जो रिश्तेदारों के सामने मनती है,
एक दूसरे के सारे टोने टटके समझ, जिंदगी बड़े इत्मिनान से चलती है|

यह दुनिया भी अजीब है इसे, अच्छी अंडरस्टॅंडिंग का नाम देती है,
यह जान लो स्व आमंत्रित प्रकोप के अंडर शांतिपूर्वक स्टॅंडिंग ही काम देती है|

प्रबंध विवाह इससे अलग है, लोग इसके रीति रिवाज अलग बतातें हैं,
समझ तो नही आता, पर आजकल होनेवाले इसमे कॉर्टशिप पीरियड बिताते हैं|

कुछ अज्ञान उत्साहित हो सोचते हैं, इस वक़्त मे एक दूसरे को समझ लेना है,
अरे समझो प्रेम विवाह के ४ साल के सिलबस को, दो महीने मे निपटा कर इक्जाम देना है|

देर से सही आँखें खुल जाती हैं, प्रेम विवाह मे हमला आप सामने से पाते है,
देखा जाता है इसमे सारे ब्रह्मास्त्र, ज़्यादातर दूर संचार के माध्यम से आते हैं|

सोंचो की जो सामने नही है, फिर खून का घूँट पी कर मूक रह जाते हो,
साल दो साल सब रमणीय लगता है, पर उसके बाद आत्मसमर्पण कर जाते हो|

सब बातों का सार यही है, नाग लपेटे कैलाषी जब चरणो मे पड़ गये,
अपना जीवन ख़त्म समझना जब सर्व शक्तिमान के आगे तुम अकड़ गये|


Read: पति क्यों उखड़ा-उखड़ा रहता है ?


Please post your comments on:क्या आपकी पत्नी भी आपको परेशान करती है ? अगर करती है तो आपकी पत्नी के परेशान करने के तरिके हमें बताइएं ?


Tags: hasyakavita, wife is problem, wife problems marriage, problem after marriage, problem after married, wife problem poem






Tags:                                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (6 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Madan Mohan saxena के द्वारा
November 16, 2012

बहुत सुंदर भावनायें और शब्द भी …बेह्तरीन अभिव्यक्ति …!!शुभकामनायें. आपका ब्लॉग देखा मैने और नमन है आपको और बहुत ही सुन्दर शब्दों से सजाया गया है लिखते रहिये और कुछ अपने विचारो से हमें भी अवगत करवाते रहिये. दीपावली की हार्दिक शुभकामनाये आपको और आपके समस्त पारिवारिक जनो को ! मंगलमय हो आपको दीपो का त्यौहार जीवन में आती रहे पल पल नयी बहार ईश्वर से हम कर रहे हर पल यही पुकार लक्ष्मी की कृपा रहे भरा रहे घर द्वार..


topic of the week



latest from jagran